Menu

Constitution Day Celebration in India

संविधान दिवस  26 नवम्बर

(Constitution Day Celebration in India)

क्या हैं मौलिक कर्तव्य (Fundamental Duties of  Citizen in India 

26 नवंबर को हर साल भारत में संविधान दिवस मनाया जाता है, क्योंकि इसी दिन 1949 को संविधान सभा द्वारा भारत के संविधान को स्वीकृत किया गया था, जो की बाद में  26 जनवरी 1950 को प्रभाव में आया. भारत के संविधान में नागरिकों के मौलिक अधिकारों के साथ-साथ कुछ मौलिक कर्तव्यों के बारे में भी बताया गया है। मौलिक कर्तव्यों को देशभक्ति की भावना को बढ़ावा देने तथा भारत की एकता को बनाए रखने के लिए भारत के सभी नागरिकों के नैतिक दायित्वों के रूप में परिभाषित किया गया है।

1. सरदार स्वर्ण सिंह समिति की अनुशंसा पर संविधान के 42वें संशोधन (1976 ई) के द्वारा मौलिक कर्तव्य को संविधान में जोड़ा गया, जिसे रूस के संविधान से लिया गया है
2. इसे भाग 4 (क)  में अनुच्छेद 51(क) के तहत रखा गया।

मौलिक कर्तव्य की संख्या ग्यारह है, जो निम्न प्रकार हैं :

  1. प्रत्येक नागरिक का यह कर्तव्य होगा कि वह संविधान का पालन करे और उसके आदर्शों, संस्थाओं, राष्ट्र ध्वज और राष्ट्र गान का आदर करें।
  2. स्वतंत्रता के लिए हमारे राष्ट्रीय आंदोलन को प्रेरित करनेवाले उच्च आदर्शों को हृदय में संजोए रखें और उनका पालन करें।
  3. भारत की प्रभुता, एकता और अखंडता की रक्षा करे और उसे अक्षुण्ण रखें।
  4. देश की रक्षा करें।
  5. भारत के सभी लोगों में समरसता और समान भ्रातृत्व की भावना का निर्माण करें।
  6. हमारी सामाजिक संस्कृति की गौरवशाली परंपरा का महत्व समझे और उसका निर्माण करें।
  7. प्राकृतिक पर्यावरण की रक्षा और उसका संवर्धन करें।
  8. वैज्ञानिक दृष्टिकोण और ज्ञानार्जन की भावना का विकास करें।
  9. सार्वजनिक संपत्ति को सुरक्षित रखें।
  10. व्यक्तिगत एवं सामूहिक गतिविधियों के सभी क्षेत्रों में उत्कर्ष की ओर बढ़ने का सतत प्रयास करें।
  11. माता-पिता या संरक्षक द्वार 6 से 14 वर्ष के बच्चों हेतु प्राथमिक शिक्षा प्रदान करना (86वां संशोधन)

►  डॉ. भीमराव अम्बेडकर के व्यक्तित्व एवं कृतित्व विषय पर महत्वपूर्ण पॉइंट / टॉपिक  के लिए क्लिक करे 

► भारतीय संविधान से सम्बंधित अति महत्वपूर्ण प्रश्न-उत्तर 

नागरिकों के कर्त्तव्य एवं अधिकार का पोस्टर

नागरिकों के कर्त्तव्य एवं अधिकार का पोस्टर

 

Go Back

Comment

.

Loading...

--------------------------- विज्ञापन ---------------------------