Menu

>>> हडप्‍पा सभ्‍यता से आजादी आंदोलन - 01

  • हड़प्पा सभ्यता की खोज किस वर्ष हई थी -1921
  • हड़प्पा के लोगों की सामाजिक पद्धति थी - उचित समतावादी
  • हड़प्पा की सभ्यता के बारे में कौन सी उक्ति सहीं है। - उन्होनें ‘पशुपति’ का सम्मान करना आरम्भ किया
  • सिंधु घाटी सभ्यता में घर किससे बनाए जाते थे - ईंट
  • हड़प्पा के निवासी - शहरी थे - नगरीय सभ्यता
  • हड़प्पा और मोहनजोदड़ो के खण्डहर किस नदी के तट पर पाए जाते है - रावी, सिंधु
  • हड़प्पावासियों ने किस वस्तु का उत्पादन सर्वप्रथम किया था - कपास
  • सिंधु घाटी की खुदाई में मिले अवशेषों में तत्कालीन व्यापारिक और आर्थिक विकास के द्योतक है - मुद्राँए
  • हड़प्पा सभ्यता किस युग की थी - कांस्य युग
  • सिंधु घाटी सभ्यता के लोगों का मुख्य व्यवसाय क्या था - कृषि
  • किस वेद में प्राचीन वैदिक युग की सभ्यता के बारे में सूचना दी गई  - ऋग्वेद
  • वैदिक गणित का सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण ग्रंथ है - शुल्वसूत्र
  • वैदिक आर्यो का प्रमुख भोजन था  - जौ और चावल
  • वैदिक लोगों द्वारा किस धातु का प्रयोग पहले किया गया था   - तांबा
  • वेद शब्द का अर्थ है – ज्ञान
  • आर्य-पूर्वो के साथ अपने संघर्षो में सफल रहे,  क्योंकि  उन्होने घोड़ों द्वारा चलाए जा रहे रथों का प्रयोग किया
  • किस फसल का ज्ञान, वैदिक काल के लोगों को नही था - तम्बाकू
  • आर्य सभ्यता में मनुष्य के जीवन की आयु का सही आरोही क्रम है - - ब्रह्मचर्य-गृहस्थ-वानप्रस्थ-संन्यास
  • गौतम बुद्ध का जन्म स्थान था - लुम्बिनी
  • महात्मा बुद्ध ने 483 ई॰पू॰ 80 वर्ष की अवस्था में कुशीनगर में अपना शरीर त्याग दिया, यह घटना कहलाती है - महापरिनिर्वाण
  • भगवान बुद्ध ने प्राण कहाँ त्यागे - कुशीनगर
  • बुद्ध किस वंश से सम्बन्धित थे - शाक्य
  • बुद्ध ने अपना प्रथम धर्म-संदेश प्रवचन कहाँ पर दिया था - सारनाथ
  • महात्मा बुद्ध ने अपना प्रथम उपदेश सारनाथ में दिया जिसे कहा जाता है - धर्मचक्रपर्वतन
  • पांचवी बौद्ध परिषद् का आयोजन किसने किया था - हर्ष
  • ‘बुद्ध’ का अर्थ है  - ज्ञान प्राप्त
  • किस भाषा का ज्यादा प्रयोग ‘बौद्धवाद’ के प्रचार के लिए किया गया - पालि
  • ‘‘त्रिपटक’’ धार्मिक ग्रन्थ है - बौद्धों का
  • बौद्धधर्म ने समाज के दो वर्गो को अपने साथ जोड़कर एक महत्वपूर्ण प्रभाव छोड़ा ये वर्ग थे - स्त्रियाँ एवं शुद्र
  • अजन्ता कलाक़तियाँ किससे सम्बन्धित है - गुप्त काल
  • बौद्ध धर्म निम्न मतों पर विश्वास करता है - दुनिया दुखो से भरी है,  लोगों को दुख अनकी इच्छाओं से होता है, यदि इच्छाओं पर काबू पा लिया जाए, तो निर्वाण मिल जायेगा

Go Back

Very important question and important fact

Reply

I like it and this is impotant question

Reply

Vary good

Reply


Comment

.

Loading...

--------------------------- विज्ञापन ---------------------------