Menu

गुरूजी संभालेंगे अब उपचार की जिम्मेदारी

May 13, 2016 at 10:33AM

स्कूलों में अब फ़र्स्ट एड बाक्स रखना अनिवार्य

सरकार ने सभी सरकारी एवं निजी स्कूलों में अब फ़र्स्ट एड बाक्स रखना अनिवार्य कर दिया है। विद्यार्थियों को चोट लगने पर स्कूल में ही प्राथमिक उपचार मिलेगा। हालांकि स्कूलों में पूर्व में भी फ़र्स्ट एड बॉक्स रखने के आदेश हैं,लेकिन उसे अनिवार्य नहीं था। कई स्कूलों में बॉक्स नहीं है। शिक्षा विभाग ने जिला शिक्षा अधिकारियों के मार्फत स्कूलों में फ़र्स्ट एड बॉक्स सुविधा अनिवार्य करने के निर्देश जारी किए हैं।

सरकार का मानना है कि खेल-खेल में बच्चों को चोट लग जाती है और ब्लड बहने समय पर प्राथमिक उपचार नहीं मिलने से उनकी जान पर बन आती है। ऐसी समस्या स्कूल में नहीं आए। इसके लिए फ़र्स्ट एड बॉक्स की सुविधा अनिवार्य की गई है शिक्षा विभाग की ओर से जारी निर्देशों के अनुसार फ़र्स्ट एड बॉक्स संभालने की जिम्मेदारी विज्ञान प्रभारी की रहेगी। महीने में एक बार संस्था प्रधान स्वयं दवाइयों की जांच करेंगे। विज्ञान प्रभारी बच्चों को सप्ताह में एक बार फ़र्स्ट एड बॉक्स की उपयोगिता बताएंगे। फ़र्स्ट एड बॉक्स में हर प्रकार की आवश्यक दवाइयां होनी चाहिए। इस बात का ध्यान रखा जाए कि दवाइयां एक्सपायरी नहीं हों।

Go Back

Comment


नवीनतम - POST